MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 6 Advertisements

Enhance your subject knowledge with MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 6 Advertisements Question and Answers and learn all the underlying concepts easily. Make sure to solve the MP Board Solutions for Class 9th English PDF on a day to day basis and score well in your exams. MP Board Class 9th English Chapter 6 Advertisements are given after enormous research by people having high subject knowledge. You can rely on them and prepare any topic of English as per your convenience easily.

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 6 Advertisements

Students looking for English Concepts can find them all in one place from our MP Board Class 9th English Solutions. Simply click on the links available to prepare the corresponding topics of English easily. MP Board Solutions for Class 9th English Chapter 6 Advertisements Question and Answers are given to you after ample research and as per the latest edition textbooks. Clarify all your queries and solve different questions to be familiar with the kind of questions appearing in the exam. Thus, you can increase your speed and accuracy in the final exam.

Advertisements Textual Exercises

Word Power

(A) Match the following words with their meanings
(सुमेलित कीजिए।)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 6 Advertisements 1
Answer:
(1) → (b)
(2) → (c)
(3) → (e)
(4) → (a)
(5) → (d)

(B) Use the following words in sentences of your own
(वाक्य बनाइए)
Answer:
watch – We should watch television from a distance.
message – He has sent the message that he will not come today.
thank – I thank God everyday for whatever he has given to me.
catchy – It is a catchy slogan.
visuals – Visuals have a lasting effect on memory.

(C) Match the opposites
(विलोम शब्द सुमेलित कीजिए।)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 6 Advertisements 2
Answer:
(1) → (b)
(2) → (e)
(3) → (d)
(4) → (a)
(5) → (c)

How Much Have I Understood?

(I) Questions from the text.
(A) Answer these questions in one or two sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What do you mean by an advertisement?
(व्हॉट डू यू मीन बाइ एन एडवर्टाइजमेंट?)
विज्ञापन से आप क्या समझते हैं?
Answer:
Advertisement is a notice, picture or film telling people about a product, job or service.
(एडवर्टाइजमेन्ट इज अ नोटिस, पिक्चर और फिल्म टेलिंग पीपल अबाऊट अ प्रोडक्ट, जॉब और सर्विस।)
विज्ञापन एक तरह की सूचना चित्र या फिल्म होता है जो लोगों को किसी उत्पादन, नौकरी या सेवा के बारे में बताता है।

Question 2.
What is the backbone of the commercial world?
(व्हॉट इज़ द बैकबोन ऑफ द कॉमर्शियल वर्ल्ड?)
व्यापारिक संसार की रीढ़ की हड्डी क्या है?
Answer:
Advertisements are the backbone of the commercial world.
(एडवर्टाइजमेन्ट्स आर द बैकबोन ऑफ द कॉमर्शियल वर्ल्ड।)
विज्ञापन व्यापारिक संसार की रीढ़ की हड्डी हैं।

Question 3.
What has happened due to the influence of radio and television?
(व्हॉट हैज़ हैपन्ड ड्यू टू द इन्फ्लूएन्स ऑफ रेडियो एण्ड टेलीविज़न?)
रेडियो और टेलीविजन के प्रभाव से क्या हुआ है?
Answer:
Due to the influence of radio and television, advertisements have almost become an integral part of our lives.
(ड्यू टू द इन्फ्लूएन्स ऑफ रेडियो एण्ड टेलीविज़न, एडवर्टाइजमेन्ट्स हैव. ऑलमोस्ट बिकम एन इन्टीग्रल पार्ट ऑफ आर लाइव्स।)
रेडियो व टेलीविजन के प्रभाव से विज्ञापन हमारे जीवन का अभिन्न अंग हो गए हैं।

Question 4.
Why do advertisements on T.V. succeed in making an instant appeal?
(व्हाय डू एडवर्टाइजमेन्ट्स ऑन टी. वी. सक्सीड इन मेकिंग एन इन्सटेन्ट अपील?)
टी. वी. के विज्ञापन तत्काल प्रभावित करने में सफल क्यों हो जाते हैं?
Answer:
Advertisements on television succeed in making instant appeal became of interesting visuals dramatising the product or service.
(एडवर्टाइजमेंन्ट्स ऑन टेलीविज़न सक्सीड इन मेकिंग इन्स्टेन्ट अपील बिकॉज़ ऑफ इन्टरेस्टिंग विजुअल्स ड्रैमेटाइजिंग द प्रोडक्ट और सर्विस।)
दूरदर्शन के विज्ञापन इसलिए तुरन्त प्रभावित करते हैं क्योंकि उनमें उत्पादों को बेहद नाटकीय ढंग से मजेदार दृश्यों के साथ पेश किया जाता है।

(B) Answer these questions in three or four sentences.
(निम्न प्रश्नों के उत्तर तीन या चार वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What factors make small children watch T.V. ads with interest?
(व्हॉट फेक्टर्स मेक स्मॉल चिल्ड्रन वॉच टी. वी. एड्स विद इन्ट्रेस्ट?)
क्या कारण है जिनकी वजह से बच्चों को टी. वी. विज्ञापन देखने में मजा आता है?
Answer:
The factors that make small children watch T.V. ads with interest are that they are interesting, attractive and easy to remember. The children are attracted by its visuals though they may not understand the message.
(द फैक्टर्स दैट मेक स्मॉल चिल्ड्रन वॉच टी. वी. एड्स विद इन्ट्रेस्ट आर दैट दे आर इन्ट्रेस्टिंग, अट्रैक्टिव एण्ड ईजी टू रिमेम्बर। द चिल्ड्रन आर अट्रैक्टिंड बाइ इट्स विजुअल्स दो दे मे नॉट अण्डरस्टैण्ड द मैसेज़।)
बच्चे टी. वी. के विज्ञापनों को चाव से देखते हैं क्योंकि वे मजेदार, आकर्षक व स्मरणीय होते हैं। वे उनके दृश्यों से प्रभावित होते हैं भले ही वे उसके सन्देश को न समझ पायें।

Question 2.
How can advertisements contribute to social welfare?
(हाउ कैन एडवर्टाइजमेंट्स कॉन्ट्रिब्यूट टू सोशल वैलफेयर)
विज्ञापन समाज कल्याण में कैसे योगदान दे सकते हैं?
Answer:
Advertisements can contribute to social welfare by spreading awareness about issues of public concern, such as campaigns against tobacco, AIDS and drugs. They can also serve in noble causes seeking help for victims of some natural calamity and so on.

(एडवर्टाइजमेन्ट्स कैन कॉन्ट्रिब्यूट टू सोश्यल वेलफेयर बाय स्प्रेडिंग अवेअरनेस अबाउट इश्यूज़ ऑफ पब्लिक कन्सर्न, सच एज़ कैम्पेन्स अगेन्स्ट टोबैको, एड्स एण्ड ड्रग्स। दे कैन ऑल्सो सर्व इन नोबल कॉज़ेज़ सीकिंग हैल्प फॉर विक्टिम्स ऑफ सम नैचुरल कैलेमिटी एण्ड सो ऑन।)

विज्ञापन लोगों के हितों से सम्बन्धित बातों जैसे तम्बाकू, एड्स व ड्रग्स के खिलाफ अभियान आदि का प्रचार कर समाज कल्याण में योगदान दे सकते हैं। वे भले कार्य जैसे प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित लोगों की सहायता की अपील आदि के द्वारा भी योगदान दे सकते हैं।

Question 3.
How can advertisements have a harmful effect on people?
(हाउ कैन एडवर्टाइजमेन्ट्स हैव अ हार्मफुल इफैक्ट ऑन पीपल?)
विज्ञापनों का लोगों पर हानिकारक प्रभाव कैसे हो सकता
Answer:
Advertisements can degenerate into cheap publicity if they are not restricted. In this way they can have a harmful effect on people.
(एडवर्टाइजमेन्ट्स कैन डीजेनरेट इन्टू चीप पब्लिसिटी इफ दे आर नॉट रिस्ट्रिक्टिड। इन दिस वे दे कैन हैव अ हार्मफुल इफैक्ट ऑन पीप्ल।)
विज्ञापनों के लिए दिशा-निर्देश न होने से वे प्रचार के ओछे या अशिष्ट तरीकों का प्रयोग कर सकते हैं जिसका लोगों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

Question 4.
In what ways can advertisements be termed as the backbone of the commercial world?
(इन व्हाट वेज़ कैन एडवर्टाइजमेन्ट्स बी टर्ड एज़ द बैकबोन ऑफ द कॉमर्शियल वर्ल्ड?)
विज्ञापनों को किस प्रकार व्यापारिक संसार की रीढ़ की हड्डी की संज्ञा दी जा सकती है?
Answer:
Advertisements can be termed as the backbone of a commercial world as they popularise the product of a company through various means Advertisements on T.V. make an instant appeal to the people. The ads make the people aware of the product to that they may purchase it.

(एडवर्टाइजमेन्ट्स कैन बी टर्ड एज़ द बैकबोन ऑफ अ कॉमर्शियल वर्ल्ड एज़ डे पॉपुलराइज द प्रोडक्ट ऑफ अ कम्पनी यू वेरिअस मीन्स। एडवर्टाइजमेन्ट्स ऑन टी. वी. मेक एन इन्सेन्टेन्ट अपील टू द पीपल। द ऐडस मेक द पीपल अवेअर ऑफ द प्रोडक्ट सो दैट दे मे पर्चेज़ इट।)

विज्ञापनों को व्यापारिक संसार की रीढ़ की हड्डी कहा जाता है क्योंकि वे कई प्रकार से किसी कम्पनी के उत्पाद को प्रचारित करते हैं। टी. वी. के विज्ञापन लोगों को उत्पाद की जानकारी देते हैं ताकि वे उसे खरीद सकें।

(II) Questions from sample posters.

Question 1.
What eats fast into the pockets of young boys and girls?
(व्हॉट ईट्स फॉस्ट इन्टू द पॉकेट्स ऑफ यंग बॉयज़ एण्ड गर्ल्स?)
नौजवान लड़कों व लड़कियों की जेबों को कौन तेजी से रिक्त करता है?
Answer:
Fast food eats fast into the pockets of young boys and girls.
(फास्ट फूड ईट्स इन टू द पॉकेट्स ऑफ यंग बॉयज एण्ड गस।)
फास्ट फूड नौजवान लड़के व लड़कियों की जेबों को तेजी से रिक्त करता है।

Question 2.
What does the slogan, “Junk food is fit for a junkyard” mean?
(व्हॉट डज़ द स्लोगन “जंक फूड इज़ फिट फॉर अ जंकयार्ड” मीन?)
“जंक फूड कबाड़खाने के लिए है” इसका क्या अर्थ है?
Answer:
Since junk food or fast food doesn’t have any nutritive value and it only increases fat and can cause various diseases hence it is fit for the junkyard.
(सिन्स जंक फूड और फास्ट फूड डजन्ट हैव एनी न्यूट्रिटिव वैल्यू एण्ड इट ओनली इंक्रीज़ेज़ फैट एण्ड कैन कॉज़ वेरियस डिजीज़ेस हैन्स इट इज़ फिट फॉर द जंकयार्ड।)
चूँकि जंक फूड या फास्ट फूड में कोई पोषक तत्व नहीं होते और वह कई बीमारियों का कारण हो सकता है अतः वह कबाड़खाने के लिए है।

Question 3.
How is a jackpot awaiting the customers?
(हाउ इज़ अ जैकपॉट अवेटिंग द कस्टमर्स?)
जैकपॉट किस तरह ग्राहकों की प्रतीक्षा कर रहा है?
Answer:
The jackpot is awaiting the customers by offering one thing free on purchasing one thing.
(द जैकपॉट इज अवेटिंग द कस्टमर्स बाइ ऑफरिंग वन थिंग फ्री ऑन परचेजिंग वन थिंग।)
जैकपॉट ग्राहकों को एक चीज खरीदने पर दूसरी चीज मुफ्त देकर उनकी प्रतीक्षा कर रहा है।

Question 4.
Choose the correct alternatives :
(सही उत्तर चुनो।)

(i) Short visuals shown on the T.V. publicising some products during commercial breaks are
(a) items
(b) fillers
(c) advertisements
(d) one act plays.
Answer:
(c) advertisements

(ii) Advertisements on the T.V. make an instant
(a) appeal
(b) approach
(c) approval
(d) agreement.
Answer:
(a) appeal

(iii) Those who prepare the matter for advertisements and publicity are called
(a) dramatists
(b) playwrights
(c) script writers
(d) copywriters.
Answer:
(d) copywriters

(iv) A message in an ad should be
(a) detailed
(b) lengthy
(c) boring,
(d) short and crisp.
Answer:
(d) short and crisp

(v) The sample hand bill no. 1 wants us to say ‘NO’ to
(a) food
(b) junk food
(c) stall food
(d) feast
Answer:
(b) junk food.

Language Practice

Read and correct the following sentences
(निम्न वाक्यों को सही करिए।)

Question 1.
I have much friends who are intelligent.
Answer:
I have many friends who are intelligent.

Question 2.
She has got many tea in her cup.
Answer:
She has got much tea in her cup.

Question 3.
The shopkeeper has got much pens.
Answer:
The shopkeeper has got many pens.

Question 4.
There is not many news.
Answer:
There is not much news.

Question 5.
Our country has much new companies in the field of electronics.
Answer:
Our country has many new companies in the field of electronics.

Listening Time

Fill in the blanks.
(रिक्त स्थान भरे।)
Answer:
Advertisements can be termed as the backbone of the commercial world. If a company or a firm has to popularise its product, it has to advertise through various means, such as handbills, posters, print media, and the television.

Advertisements on the television make an instant appeal to people because of interesting visuals dramatising the product or service.

Speaking Time

Read the advertisement given in the textbook and answer the following questions.
(पुस्तक में दिये गये विज्ञापन को देखकर निम्न प्रश्नों के उत्तर दो।)

Question 1.
Which post is the advertisement for?
Answer:
The advertisement is for the post of computer operator.

Question 2.
How many posts are advertised?
Answer:
Two posts are advertised.

Question 3.
What are the essential qualifications for the job?
Answer:
The essential qualifications for the job are graduate with PGDCA or BCA.

Question 4.
Who will get preference?
Answer:
Candidates with three years experience will get preference.

Question 5.
What is the date for the interview?
Answer:
The date for the interview is 2.2.2011.

Writing Time

Where would you find the following instructions?
(दिये गये निदेश कहाँ मिलता हैं।?)
Answer:
(1) Shake well before use – On a bottle containing any medicine or liquid.
(2) Maintain Silence – In a school, office, ashram etc.
(3) Danger 1000 Watts – Electric power supply.
(4) Work in Progress – On road side or at a place where construction or repairing work is being done.
(5) Use Me – on a Dustbin.

Things to do

Write down some slogans on different topics given below
(the name of the products are imaginary and humorous)
Answer:
1. Jungle Chips – Everyone loves them.
2. Monu Shoes – Say no to old shoes buy Monu shoes.
3. Mony T.V – Mony T.V. the best T.V.

Advertisements Difficult Word Meanings

advertisement (एडवरटाइजमेन्ट)-a notice, picture, or film telling about a product, job or service. विज्ञापन; integral (इन्टिग्रल)-being an essential part of something आवश्यक भाग; visual (विजुअल)-a picture, a map, piece of a film etc. used to make an article or talk more interesting दृश्य सामग्री; backbone (बैकबोन)-the most important part of a system, an organisation etc. that gives it support and strength रीढ़ की हड्डी; popularise (पॉपुलराइज)-to make a lot of people know about something लोकप्रिय बनाना; achievement (एचीवमेंट) a thing that somebody has done successfully, especially using their own effort and skill उपलब्धि; spread (स्प्रेड)-to affect or make something affect, be known by, or used by more and more people फैलाना; campaign (कैम्पेन)-a series of planned activities that are intended to achieve a particular aim अभियान, आन्दोलन; calamity (कैलेमिटी) an event that causes great damage or harm विपत्ति; deceptive (डिसेप्टिव)-likely to make you believe something that is not true (छलपूर्ण); convey (कन्वे)-to make ideas, feelings etc., known to somebody पहुँचाना, प्रेषित करना (सूचना, सन्देश आदि) slogan (स्लोगन) a word or phrase that is easy to remember, used for advertisement to attract people नाश; junk food (जंक फूड)-food that is quick and easy to prepare and eat शीघ्र तैयार हो जाने वाला भोजन (फास्ट फूड);belly (बेली)-the part of the body below the chest पेट; apparel (अपैरल)-clothing when it is being sold in shops वस्त्र; impact (इम्पैक्ट)-the powerful effect on something प्रभाव; degenerate (डिजनरेट)-to become worse पतित होना, ज्यादा खराब होना; avail (अवेल)-to be helpful or useful to somebody लाभकारी होना; enlighten (एनलाइटन)-to give somebody information so that they understand something better प्रबुद्ध करना।

Advertisements Summary, Pronunciation & Translation

[1] Thanks to the radio and the television, advertisements have almost become an integral part of our lives. Even small children watch a TV ad (short for advertisement) with a great deal of interest, attracted by its visuals though they may not understand its message.

(बैंक्स टू द रेडियो एण्ड द टेलीविजन, एडवरटिज्मेण्ट्स हैव आलमोस्ट बिकम एन इंट्रगिल पार्ट ऑफ अवर लाइब्ज। ईवन स्मॉल चिल्ड्रेन वॉच ए टीवी एड (शॉर्ट फॉर एडवरटाइजमेण्ट) विद एं ग्रेट डील ऑफ इन्टरेस्ट, अटैक्ड बाई इट्स विजुअल्स दो दे मे नॉट अण्डरस्टेण्ड इट्स मैसेज।)

हिन्दी अनुवाद :
रेडियो और टेलीविजन को धन्यवाद है, विज्ञापन हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गए हैं। यहाँ तक कि छोटे बच्चे भी टी. वी. विज्ञापन बड़ी दिलचस्पी से देखते हैं, उसके दृश्यों से आकर्षित होते हैं भले ही वे इसके सन्देश को समझते न हों।

[2] Advertisements can be termed as the backbone of the commercial world. If a company or a firm has to popularise its product, it has to through various means, such as hand bills, posters, print media, and the television. Advertisements on the television make an instant appeal to people because of interesting visuals dramatising the product or service.

(एडवरटिज्मेण्ट्स केन बी टर्ड एज़ द बेकबोन ऑफ द कमर्शियल वर्ल्ड। इफ अ कम्पनी और अ फर्म हेज़ टु पापुलराईज इट्स प्रोडक्ट, इट हेज़ टु एडवरटाइज़ श्रू वैरियस मीन्स, सच एज़ हैन्ड बिल्स, पोस्टर्स, प्रिंट मीडिया एण्ड द टेलिविजन। एडवरटाइजमेण्ट्स ऑन द टेलिविजन मेक्स एन इंस्टंट अपील टु प्यूपिल बिकॉज़ ऑफ इन्ट्रेस्टिंग विजुअल्स ड्रामेटाइजिंग द प्रोडक्ट और सर्विस।)

हिन्दी अनुवाद :
विज्ञापनों को दूसरे शब्दों में व्यापारिक जगत की रीढ़ की हड्डी भी कहा जा सकता है। यदि किसी कम्पनी या संस्था को अपने माल को लोकप्रिय बनाना है तो उसे विभिन्न माध्यमों से प्रचार करना होगा, जैसे कि छपे पन्ने, पोस्टर, अखबार और टेलीविजन। टेलीविजन पर विज्ञापन लोगों पर तत्काल प्रभाव डालता है क्योंकि उत्पादों या सेवा को नाट्य रूप में मनोरंजक दृश्यों के द्वारा दिखाया जाता है।

[3] Even government organizations use some ads to highlight their activities, achievements and future programmes. Ads also serve a very important purpose of spreading awareness about issues of public concern, such as compaigns against tobacco, AIDS and drugs and noble causes seeking help for victims of some natural calamity and so on.

(इवन गवर्नमेंट आर्गेनाइज़ेशन्स यूज सम एड्स टू हाइलाईट देअर अक्टिविटीज़, अचीवमेंट्स एण्ड फ्यूचर प्रोग्राम्स। एड्स अल्सो सर्व अवेरी इम्पार्टेण्ट पर्पज ऑफ स्प्रेडिंग अवरेनेस अबाउट इश्यूज ऑफ पब्लिक कन्सर्न, सच एज केम्पेन्स अगेन्स्ट टोबको, एडज़ एण्ड ड्रग्स एण्ड नोबल काज़ेस सीकिंग हैल्प फोर विक्टिम्स ऑफ सम नेचरल केलेमिटी एण्ड सो आन।)

हिन्दी अनुवाद :
यहाँ तक कि सरकारी संस्थाएँ भी अपने कार्य-कलापों, उपलब्धियों और भावी कार्यक्रमों को प्रदर्शित करने के लिये विज्ञापनों का सहारा लेती हैं। विज्ञापन लोकहित से सम्बन्धित मामलों को लोगों में जागरूकता लाने के महत्वपूर्ण उद्देश्य में सहायता देने का कार्य करते हैं, जैसे तम्बाकू, एड्स और नशीले पदार्थों के विरुद्ध आन्दोलन और कुछ महान् कार्य, जैसे किसी प्राकृतिक कोष से प्रभावित लोगों को सहायता देना इत्यादि।

[4] Today advertising has become a very powerful factor in our day-to-day lives, so we have to be watchful lest we are misled or misinformed by deceptive advertisements.

Those who prepare the matter for advertisements and for publicity are called copywriters. All of them are experts in conveying the message of their ads in short crisp sentences, slogans and eye-catching visuals. Some sample handbills follow.

(टु डे एडवरटाइजिंग हैज़ बिकम ए वैरी पावरफुल फैक्टर इन अवर डे-टू-डे लाइव्ज, सो वी हैव टू बी वाचफुल लेस्ट वी आर मिस्लेड ऑर मिसइन्फार्ड बाय डिसेप्टिव एडवरर्टिज़मेन्ट्स।

दोज़ हू प्रिपेअर द मैटर फोर एडवरर्टिज़मेन्ट्स एण्ड फोर पब्लिसिटी आर काल्ड कॉपी राइटर्स। ऑल ऑफ देम आर एक्सपर्ट्स इन कनवेइंग द मैसेज़ ऑफ देयर एड्स इन शार्ट क्रिस्प सेन्टेन्सेज़, स्लोगन्स एण्ड आई-केचिंग विजुअल्स। सम सेम्पल हैपडबिल्स फालो।)

हिन्दी अनुवाद :
आजकल विज्ञापन का कार्य हमारे दैनिक जीवन में एक शक्तिशाली तत्व बन गया है। इसलिए हमें सजग रहना पड़ेगा जिससे हम धोखा देने वाले विज्ञापनों से या गलत सूचना देने वाले विज्ञापनों से भ्रमित न हों।

वे लोग जो विज्ञापनों या प्रचार के लिये सामग्री तैयार करते हैं उन्हें “कॉपीराइटर” कहते हैं। ये सभी लोग विज्ञापनों में सन्देश देने के लिये उन्हें संक्षिप्त, तीखे वाक्यों, नारों और नेत्र लुभावने दृश्य तैयार करने में विशेषज्ञ होते हैं। कुछ नमूने के हेतु बिल्स आगे दिये हैं इन्हें पाठ्य-पुस्तक में देखें।

[5] Since advertisements are making a great impact in all walks of our lives, care should be taken to ensure that they are not allowed to degenerate into cheap publicity. A democratic country like India gives every citizen and organization the freedom of expression. In a way, advertisers also avail themselves of this freedom and publicise their products, ideas, programmes, without any fear of legal action or punishments.

(सिन्स एडवरटिज्मेन्ट्स आर मेकिंग अ ग्रेट इम्पैक्ट इन ऑल वॉक्स ऑफ आवर लिव्स, केअर शुड बी टेकन टू इन्श्युअर दैट दे आर नॉट अलाउड टु डिजनरेट इन्टू चीप पब्लिसिटी। अ डेमोक्रेटिक कन्ट्री लाइक इंडियन गिज़ एव्री सिटीजन एण्ड .. आर्गेनाइजेशन द फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन। इन ए वे एडवरटाइज़र्स अल्सो अवेल देमसेल्व ऑफ दिस फ्रीडम एण्ड पब्लिसाइज देअर प्रोडक्ट्स, आइडियाज, प्रोग्राम्स विदाउट एनी फीअर ऑफ लीगल एक्शन और पनिशमेण्ट्स।)

हिन्दी अनुवाद :
चूँकि विज्ञापन जीवन के सभी क्षेत्रों में बहुत प्रभाव डालते हैं, इसलिये इस बात की सावधानी बरतना आवश्यक है कि उन्हें सस्ते प्रचार में स्तरहीन नहीं होना चाहिए। भारत जैसे लोकतान्त्रिक देश में प्रत्येक नागरिक व संस्थानों को अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता है। एक तरह से विज्ञापन दाता अपने उत्पादों, विचारों या कार्यक्रमों को प्रचारित करने के लिए किसी कानूनी कार्यवाही या सजा से भयभीत हुए बिना इस आजादी का उपयोग कर सकते हैं।

[6] But we should never forget that freedom is not licence. Some sort of regulatory mechanism is needed to curb any such tendencies on the part of advertisers that can cause more harm than good to society. If this aspect can be taken care of, advertisements can be most advantageously used for not only promoting commercial products but also for educating and enlightening common people about social, cultural and developmental issues of crucial importance.

(बट वी शुड नेवर फोरगेट दैट फ्रीडम इज़ नाट लाइसेन्स। सम शॉर्ट ऑफ रेगूलेटरी मेकेनिज्म इज़ नीडेड टू कर्ब एनी सच टेन्डेसीज़ ऑन द पार्ट ऑफ एडवरटाइज़र्स दैट कैन कॉज़ मोर हार्म देन गुड टु सोसायटी। इफ दिस आस्पेक्ट केन बी टेकन केयर ऑफ, एडवरटाइजमेण्ट केन बी मोस्ट एडवान्टेजिसली यूस्ड फोर नाट ओनली प्रोमोटिंग कमर्शियल प्रोडक्ट्स बट अल्सो फोर एजुकेटिंग एण्ड इन्लाइटनिंग कॉमन पीपुल अबाउट सोशल कल्चरल एण्ड डेवलपमेंटल इश्यूज ऑफ क्रूशियल इम्पार्टटेन्स।)

हिन्दी अनुवाद :
किन्तु हमें यह भी नहीं भूलना चाहिये कि आजादी का अर्थ पूरी छूट नहीं है। किसी प्रकार का नियमन यन्त्र विज्ञापनदाता की ऐसी प्रवृत्तियों पर नियन्त्रण रखने वाला होना चाहिए जो लाभदायक ज्यादा हो हानिकारक कम। इस मामले में इस बात का ध्यान रखना होगा कि विज्ञापन का न केवल व्यापारिक उत्पादनों के प्रचार ही न हो बल्कि वह सामान्य नागरिक को सामाजिक, सांस्कृतिक व विकास के अति महत्वपूर्ण मामलों में भी शिक्षित व प्रबुद्ध करने वाला हो।

We as a team believe the information prevailing regarding the MP Board Solutions for Class 9th English Chapter 6 Advertisements Question and Answers has been helpful in clearing your doubts to the fullest. For any other help do leave us your suggestions and we will look into them. Stay in touch to get the latest updates on State Board Solutions for different subjects in the blink of an eye.

Leave a Comment