MP Board Class 6th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 1

In this article, we will share MP Board Class 6th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 1 Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 6th Sanskrit Solutions Surbhi विविधप्रश्नावलिः 1

Sanskrit Class 6 Mp Board प्रश्न 1.
एक पदेन उत्तरं लिखत (एक शब्द में उत्तर लिखो)
(क) रुचिकरा भाषा का अस्ति? (रुचिकर भाषा कौन-सी है?)
उत्तर:
संस्कृतभाषा

(ख) वयं नेत्राभ्याम् किं कुर्मः? (हम सब दोनों नेत्रों से क्या करते हैं?)
उत्तर:
पश्यामः

(ग) मोहनः रात्रौ कदा शयनं करोति? (मोहन रात को कब सोता है?)
उत्तर:
नववादने

MP Board Solutions

(घ) तृणानां मेलनेन किं भवति? (तिनकों के मेल से क्या होता है?)
उत्तर:
रज्जुनिर्माणं।

Class 6th Sanskrit Mp Board प्रश्न 2.
एकवाक्येन उत्तरं लिखत (एक वाक्य में उत्तर लिंखो)
(क) स्वदेशे कः पूज्यते? (अपने देश में किसकी पूजा होती है?)
उत्तर:
स्वदेशे राजा पूज्यते। (स्वदेश में राजा की पूजा होती है।)

(ख) मोहनः कदा क्रीडति? (मोहन कब खेलता है?)
उत्तर:
मोहनः सायंकाले क्रीडति। (मोहन सायंकाल खेलता है।)

(ग) वयं कया जिघ्रामः? (हम किससे सूंघते हैं?)
उत्तर:
वयं नासिकया जिघ्रामः। (हम नाक से सूंघते हैं।)

(घ) वृक्षः कैः शोभते? (वृक्ष किससे शोभा पाता है?)
उत्तर:
पर्णैः, पुष्पैः, फलैः, शाखाभिः च वृक्ष शोभते। (पत्तों, फूलों, फलों और शाखाओं से वृक्ष शोभा पाता है।)

Vividh Prashnavali 1 Sanskrit MP Board प्रश्न 3.
कोष्ठकशब्दैः अधोलिखितप्रश्नानां उत्तरं लिखत (कोष्ठक के शब्दों से निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखो)
(एतौ, ते, चटके, सः, ताः, नदी)
(क) कः पठति? – (कौन पढ़ता है?)
(ख) कौ धावतः? –  (कौन दो दौड़ते हैं?)
(ग) के रक्षन्ति? – (कौन रक्षा करते हैं?)
(घ) के कूजतः? – (कौन दो कूजती हैं?)
(ङ) का प्रवहति? – (कौन बहती है?)
(च) काः भ्रमन्ति? – (कौन घूमते हैं?)
उत्तर:
(क) सः पठति। – (वह पढ़ता है।)
(ख) एतौ धावतः। – (ये दोनों दौड़ते हैं।)
(ग) ताः रक्षन्ति। – (ये सब रक्षा करती हैं।)
(घ) चटके कूजतः। – (दो चिड़ियाँ कूजती हैं।)
(ङ) नदी प्रवहति। – (नदी बहती है।)
(च) ते भ्रमन्ति। – (वे सब घूमते हैं।)

Mp Board Solution Class 6th Sanskrit प्रश्न 4.
श्लोकान् पूरयत (श्लोकों की पूर्ति करो)
(क) विदेशेषु धनं विद्या, …………….।
………….. , शीलं सर्वत्र वै धनम्॥
(ख) विद्वत्वं च नृपत्वं च, ………..।
………… , विद्वान सर्वत्र पूज्यते।
(ग) विद्या ददाति विनयं …………….।
पात्रत्वाद् धनमाप्नोति …………….॥
(घ) अलसस्य कुतो विद्या, …………….।
अधनस्य कुतो मित्रम्, …………
उत्तर:
(क) विदेशेषु धनं विद्या, व्यसनेषु धनं मतिः।
परलोके धनं धर्मः, शीलं सर्वत्र वै धनम्॥
(ख) विद्वत्वं च नृपत्वं च, नैव तुल्यं कदाचन।
स्वदेशे पूज्यते राजा, विद्वान् सर्वत्र पूज्यते ॥
(ग) विद्या ददाति विनयं, विनयाद् याति पात्रताम्।
पात्रत्वाद् धनमाप्नोति, धनाद् धर्मः ततः सुखम्॥
(घ) अलसस्य कुतो विद्या, अविद्यस्य कुतो धनम्।
अधनस्य कुतो मित्रम्, अमित्रस्य कुतो सुखम्॥

MP Board Solutions

Class 6th Sanskrit Mp Board Solution प्रश्न 5.
उचितशब्देनं रिक्त स्थानं पूरयत(उचित शब्दों से रिक्त स्थानों को पूरा करो)
(क) चतस्त्रः …………….। (बालिकाः/बालकाः/गृहाणि)
(ख) त्रीणि ……………। (छात्राः/फलानि/मयूराः)
(ग) अष्ट ……………। (पत्रम्/लते/भवनानि)
उत्तर:
(क) बालिकाः,
(ख) फलानि,
(ग) भवनानि।

Class 6th Mp Board Sanskrit  प्रश्न 6.
उचितं मेलयत (उचित मिलान कराओ)
Sanskrit Class 6 Mp Board
उत्तर:
(क) → 4
(ख) → 1
(ग) → 2
(घ) → 3

प्रश्न 7.
निम्नलिखितशब्दानां तृतीयाविभक्तेः रूपाणि लिखत (निम्नलिखित शब्दों के तृतीया विभक्ति के रूप लिखो)
(क) घट
(ख) हस्त
(ग) नासिका
(घ) शाखा
(ङ) पुष्प
(च) चक्र।
उत्तर:
तृतीया विभक्ति-
Class 6th Sanskrit Mp Board

प्रश्न 8.
उचितं मेलयत (उचित का मिलान करो)(अ)
Vividh Prashnavali 1 Sanskrit MP Board
उत्तर:
(क) → 5
(ख) → 4
(ग) → 3
(घ) → 7
(ङ) → 1
(च) → 9
(छ) → 6
(ज) → 1
(झ) → 8

प्रश्न 9.
उचितं मेलयत (उचित का मिलान करो)
Mp Board Solution Class 6th Sanskrit
उत्तर:
(क) → 9
(ख) → 5
(ग) → 7
(घ) → 6
(ङ) → 8
(च) → 4
(छ) → 2
(ज) → 3
(झ) →1

प्रश्न 10.
अन्वयपूर्तिम् कुरुत (अन्वय की पूर्ति करो)
(क) कुरूपाणां…………. विद्या, ………….. धनं (विद्या) तथा, निर्बलानाम् बलं ………… , अतः………… साधनीया।
(ख) विदेशेषु…….. धनं, व्यसनेषु मतिः………….. । परलोके………… धनं………… सर्वत्र वै धनम्।
उत्तर:
(क) रूपं, निर्धनानां, विद्या, प्रयत्नतः।
(ख) विद्या, धनं, धर्मः, शीलं।

प्रश्न 11.
वर्णमालानुसारं क्रमेण स्थापयत (वर्णमाला के अनुसार क्रम स्थापित कीजिए)
ऊर्णाः, बकः, औषधम्, हलम्, सरः, मयूरः, रथः, आम्रम्, घटः, कमलम्।
उत्तर:
आम्रम्, ऊर्णाः, औषधम्, कमलम्, घटः, बकः, मयूरः, रथः, सरः, हलम्।

Leave a Comment