MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं

In this article, we will share MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 9th Science solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं

MP Board Class 9th Science Chapter 2  पाठ के अन्तर्गत के प्रश्नोत्तर

प्रश्न श्रृंखला – 1 # पृष्ठ संख्या 16

क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science प्रश्न 1.
पदार्थ से आप क्या समझते हैं ?
उत्तर:
पदार्थ-“विश्व की प्रत्येक वस्तु जिस सामग्री से बनी होती है तथा जिसमें द्रव्यमान एवं आयतन होता है, उसे पदार्थ कहते हैं।”

क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science प्रश्न 2.
समांगी और विषमांगी मिश्रणों में अन्तर बताएँ।
उत्तर:
समांगी मिश्रणों की बनावट समान होती है जबकि विषमांगी मिश्रणों के अंश भौतिक दृष्टि से पृथक् होते हैं।

प्रश्न श्रृंखला – 2 # पृष्ठ संख्या 20

क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है पाठ के प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science प्रश्न 1.
उदाहरण सहित समांगी एवं विषमांगी मिश्रणों में विभेद कीजिए।
उत्तर:
समांगी एवं विषमांगी मिश्रणों में विभेद
क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science

2. क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है Question Answer MP Board Class 9th Science प्रश्न 2.
विलयन, निलम्बन और कोलॉइड एक-दूसरे से किस प्रकार भिन्न है?
उत्तर:
विलयन, निलम्बन एवं कोलॉइड में भिन्नताएँ
क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science

क्या हमारे आस पास के पदार्थ शुद्ध है प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science प्रश्न 3.
एक संतृप्त विलयन बनाने के लिए 36g सोडियम क्लोराइड को 100 g जल में 293 K पर घोला जाता है। इस तापमान पर इसकी सान्द्रता प्राप्त कीजिए।
हल:
चूँकि सोडियम क्लोराइड (विलेय) का द्रव्यमान = 36 g (दिया है)
एवं जल (विलायक) का द्रव्यमान = 100 g (दिया है)
विलयन का द्रव्यमान = विलेय का द्रव्यमान + विलायक का द्रव्यमान
= 36g + 100 g = 136g
क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है पाठ के प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science
अतः विलयन की 293 K पर अभीष्ट सान्द्रता = 26.47%

प्रश्न श्रृंखला – 3 # पृष्ठ संख्या 26

पाठ 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है MP Board Class 9th Science प्रश्न 1.
पेट्रोल और मिट्टी का तेल (Kerosene oil) जो कि आपस में घुलनशील हैं, के मिश्रण को आप कैसे पृथक् करेंगे ? पेट्रोल तथा मिट्टी के तेल के क्वथनांकों में 25°C से अधिक का अन्तराल है।
उत्तर:
पेट्रोल और मिट्टी के तेल के मिश्रण को पृथक् करना
पेट्रोल एवं मिट्टी के तेल के मिश्रण को हम आसवन विधि से पृथक् करेंगे क्योंकि इनके क्वथनांकों में 25°C से अधिक का अन्तराल है।
2. क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है Question Answer MP Board Class 9th Science

विधि –

  1. पेट्रोल एवं मिट्टी के तेल के मिश्रण को एक आसवन फ्लास्क में लेते हैं। इसमें एक थर्मामीटर (तापमापी) लगाते हैं।
  2. दिए गए चित्र 2.1 के अनुसार उपकरण को व्यवस्थित करते हैं।
  3. मिश्रण को धीरे-धीरे सावधानीपूर्वक गर्म करते हैं और थर्मामीटर के पाठ्यांक का अवलोकन करते हैं।
  4. पेट्रोल वाष्पीकृत होता है तथा संघनन द्वारा संघनित होकर बाहर एक बर्तन में एकत्रित हो जाता है।
  5. थर्मामीटर का तापमान तब तक स्थिर रहता है जब तक कि सम्पूर्ण पेट्रोल पृथक् नहीं हो जाता।
  6. ग्राहक बर्तन को अलग कर देते हैं और मिश्रण को गर्म करना बन्द कर देते हैं।
  7. शेष मिट्टी का तेल फ्लास्क में रह जाता है। इस प्रकार मिश्रण के घटक पृथक् हो जाते हैं।

Kya Hamare Aas Paas Ke Padarth Shudh Hai Question Answer MP Board Class 9th Science प्रश्न 2.
पृथक करने की सामान्य विधियों के नाम दीजिए
(i) दही से मक्खन,
(ii) समुद्री जल से नमक,
(iii) नमक से कपूर।
उत्तर:
(i) अपकेन्द्रण (मथना),
(ii) वाष्पन,
(iii) ऊर्ध्वपातन।

क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है के प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science प्रश्न 3.
क्रिस्टलीकरण विधि से किस प्रकार के मिश्रणों को पृथक् किया जा सकता है ?
उत्तर:
क्रिस्टलीय एवं अक्रिस्टलीय पदार्थों के मिश्रण।

प्रश्न श्रृंखला – 4 # पृष्ठ संख्या 27

हमारे आस पास के पदार्थ शुद्ध है प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science प्रश्न 1.
निम्न को रासायनिक और भौतिक परिवर्तनों में वर्गीकृत करें
1. पेड़ों का काटना
2. मक्खन का एक बर्तन में पिघलना
3. अलमारी में जंग लगना
4. जल का उबलकर वाष्प बनना
5. विद्युत तरंग का जल में प्रवाहित होना तथा उसका हाइड्रोजन एवं ऑक्सीजन गैसों में विघटित होना
6. जल में साधारण नमक का घुलना
7. फलों से सलाद बनाना
8. लकड़ी और कागज का जलना।
उत्तर:
भौतिक परिवर्तन

1. पेड़ों का काटना
2. मक्खन का एक बर्तन में पिघलना
4. जल का उबलकर वाष्प बनना
6. जल में साधारण नमक का घुलना
7. फलों से सलाद बनाना।

रासायनिक परिवर्तन-

3. अलमारी में जंग लगना
5. विद्युत तरंग का जल में प्रवाहित होना तथा इसका हाइड्रोजन एवं ऑक्सीजन गैसों में विघटित होना
8. लकड़ी और कागज का जलना।

प्रश्न 2.
अपने आसपास की चीजों को शुद्ध पदार्थों या मिश्रण से अलग करने का प्रयत्न करें।
उत्तर:
(निर्देश- छात्र इस क्रिया-कलाप को स्वयं अपने घर पर करें।)

MP Board Class 9th Science Chapter 2  पाठान्त अभ्यास के प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
निम्नलिखित को पृथक् करने के लिए आप किन विधियों को अपनाएँगे?
(a) सोडियम क्लोराइड को जल के विलयन से पृथक् करने में।
(b) अमोनियम क्लोराइड को सोडियम क्लोराइड तथा अमोनियम क्लोराइड के मिश्रण से पृथक् करने में।
(c) धातु के छोटे टुकड़े को कार के इंजन आयल से पृथक् करने में।
(d) दही से मक्खन निकालने के लिए।
(e) जल से तेल निकालने के लिए।
(f) चाय से चाय की पत्तियों को पृथक् करने में।
(g) बालू से लोहे की पिनों को पृथक् करने में।
(h) भूसे से गेहूँ के दानों को पृथक् करने में।
(i) पानी में तैरते हुए महीन मिट्टी के कणों को पानी से अलग करने के लिए।
(j) पुष्प की पंखुड़ियों के निचोड़ से विभिन्न रंजकों को पृथक् करने में।
उत्तर:
(a) वाष्पीकरण द्वारा अथवा क्रिस्टलीकरण द्वारा
(b) ऊर्ध्वपातन विधि
(c) छलनी से छानकर
(d) मंथन विधि या अपकेन्द्रण विधि
(e) पृथक्कारी कीप द्वारा
(f) छननी द्वारा छानकर
(g) चुम्बक द्वारा
(h) मिश्रण को हवा में ऊपर से गिराकर
(i) छानक द्वारा
(i) क्रोमेटोग्राफी विधि।

प्रश्न 2.
चाय तैयार करने के लिए आप किन-किन चरणों का प्रयोग करोगे ? विलयन, विलायक, विलेय, घुलना, घुलनशील, अघुलनशील, घुलेय (फिल्ट्रेट) तथा अवशेष शब्दों का प्रयोग करें।
उत्तर:
चाय तैयार करने के विभिन्न चरण

  1. चाय बनाने वाले बर्तन (चायदान) में आवश्यक मात्रा में जल (विलायक) लेकर उसे चूल्हे पर रखकर गर्म करते हैं।
  2. इसमें आवश्यकतानुसार चाय की पत्ती डालते हैं जो अघुलनशील होती है तथा गर्म करने पर इसका अर्क एवं रंग जल में मिल जाता है।
  3. इसमें आवश्यकतानुसार दूध (विलेय) मिलाते हैं।
  4. इसके बाद आवश्यकतानुसार शक्कर डालते हैं जो घुलनशील होने के कारण मिश्रण में घुल जाती
  5. चाय के मिश्रण को अच्छी तरह खौलाते हैं।
  6. चाय के मिश्रण को एक छननी द्वारा छान लेते हैं जिससे घुलेय (फिल्ट्रेट) बर्तन में छनकर आ जाता है तथा अवशेष चाय की पत्ती छननी के अन्दर रह जाती है।
  7. इस प्रकार प्राप्त चाय जल में चीनी, दूध एवं चाय की पत्ती के अर्क का विलयन होता है।

प्रश्न 3.
प्रज्ञा ने चार अलग-अलग पदार्थों की घुलनशीलताओं को विभिन्न तापमान पर जाँचा तथा आगे दिए गए आँकड़ों को प्राप्त किया। प्राप्त हुए परिणामों को 100g जल में विलेय पदार्थ की मात्रा, जो संतृप्त विलयन बनाने हेतु पर्याप्त है, अग्रलिखित तालिका में दर्शाया गया है-
क्या हमारे आस पास के पदार्थ शुद्ध है प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science
(a) 50g जल में 313 K पर पोटैशियम नाइट्रेट के संतृप्त विलयन को प्राप्त करने हेतु कितने ग्राम पोटैशियम नाइट्रेट की आवश्यकता होगी ?
(b) प्रज्ञा 353 K पर पोटैशियम क्लोराइड का संतृप्त विलयन तैयार करती है और विलयन को कमरे के तापमान पर ठण्डा होने के लिए छोड़ देती है। जब विलयन ठण्डा होगा तो वह क्या अवलोकित करेगी ? स्पष्ट करें।
(c) 293 K पर प्रत्येक लवण की घुलनशीलता का परिकलन करें। इस तापमान पर कौन-सा लवण सबसे अधिक घुलनशील होगा ?
(d) तापमान में परिवर्तन से लवण की घुलनशीलता पर क्या प्रभाव पड़ता है ?
हल:
(a) चूँकि तालिका के अनुसार 313 K पर 100 g को संतृप्त विलयन बनाने के लिए आवश्यक पोटैशियम नाइट्रेट की मात्रा = 62 g
इसलिए उक्त तापमान पर 50 g जल में संतृप्त विलयन बनाने के लिए पोटैशियम नाइट्रेट की आवश्यक मात्रा = \(\frac { 62 }{ 100 }\) x 50 = 31g
अतः पोटैशियम नाइट्रेट की अभीष्ट मात्रा = 31 g

(b) चूँकि 353 K पर पोटैशियम क्लोराइड की विलेयता (घुलनशीलता) कमरे के ताप की अपेक्षा अधिक है अतः पोटैशियम क्लोराइड के 353 K पर बने संतृप्त विलयन को कमरे के तापमान पर ठण्डा करने पर पोटैशियम क्लोराइड की अतिरिक्त मात्रा विलयन में नीचे बैठ जाएगी।

(c) 293 K पर पोटैशियम नाइट्रेट की घुलनशीलता
\(=\frac{32 \times 100}{(100+32)}=\frac{3200}{132}=24 \cdot 24 \%\)
293 K पर सोडियम क्लोराइड की घुलनशीलता
\(=\frac{36 \times 100}{(100+36)}=\frac{3600}{132}=26 \cdot 47 \%\)
293 K पर पोटैशियम क्लोराइड की घुलनशीलता
\(=\frac{35 \times 100}{(100+35)}=\frac{3500}{132}=25 \cdot 92\%\)
293 K पर अमोनियम क्लोराइड की घुलनशीलता
\(=\frac{37 \times 100}{(100+37)}=\frac{3700}{132}=27 \cdot 01 \%\)
अत: 293 K तापमान पर अमोनियम क्लोराइड सबसे अधिक घुलनशील होगा।
(d) तापमान बढ़ाने पर प्रायः लवणों की घुलनशीलता बढ़ जाती है।

प्रश्न 4.
निम्न की उदाहरण सहित व्याख्या करें
(a) संतृप्त विलयन, (2019)
(b) शुद्ध पदार्थ,
(c) कोलॉइड, (2019)
(d) निलम्बन। (2019)
उत्तर:
(a) संतप्त विलयन – “जब किसी तापमान पर किसी विलायक में किसी विलेय को घोला जाता है तो एक स्थिति ऐसी आती है कि उस विलायक में विलेय की और मात्रा नहीं घोली जा सकती है। इस प्रकार प्राप्त विलयन संतृप्त विलयन कहलाता है।”

(b) शुद्ध पदार्थ – “वे पदार्थ जो एक ही प्रकार के कणों से मिलकर बने होते हैं,शुद्ध पदार्थ कहलाते हैं।” उदाहरण-ताँबा, सोना, कार्बन, ऑक्सीजन, अमोनियम क्लोराइड, कॉपर सल्फेट आदि।

(c) कोलॉइड – “जब किसी विलयन में विलेय के कण निलम्बन की अपेक्षा इतने छोटे होते हैं कि साधारण आँखों से दिखाई नहीं देते लेकिन ये प्रकाश की किरणों को आसानी से फैला देते हैं, ऐसे विलयन को कोलॉइडी विलयन या कोलॉइड कहते हैं।”
उदाहरण – दूध, मक्खन, पनीर, जेली, धुआँ आदि।

(d) निलम्बन – “वह विषमांगी विलयन जिसमें विलेय के कण आसानी से आँखों से देखे जा सकते हैं तथा ये माध्यम की समष्टि में निलम्बित रहते हैं, निलम्बन कहलाता है।”
उदाहरण – मिट्टी युक्त गंदा पानी, चॉक का घोल आदि।

प्रश्न 5.
निम्नलिखित में से प्रत्येक को समांगी और विषमांगी मिश्रणों में वर्गीकृत करें सोडा जल, लकड़ी, बर्फ, वायु, मिट्टी, सिरका, छनी हुई चाय।
उत्तर:
समांगी मिश्रण-सोडा जल, वायु, छनी हुई चाय, सिरका। विषमांगी मिश्रण-लकड़ी, मिट्टी।

प्रश्न 6.
आप किस प्रकार पुष्टि करेंगे कि दिया हुआ रंगहीन द्रव शुद्ध जल है ?
उत्तर:
हम दिए हुए रंगहीन द्रव का क्वथनांक ज्ञात करेंगे यदि क्वथनांक 100°C (373K) आता है तो दिया हुआ रंगहीन द्रव शुद्ध जल है, अन्यथा नहीं ।

प्रश्न 7.
निम्न में से कौन-सी वस्तुएँ शुद्ध पदार्थ हैं ?
(a) बर्फ,
(b) दूध,
(c) लोहा,
(d) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल,
(e) कैल्शियम ऑक्साइड,
(f) पारा,
(g) ईंट,
(h) लकड़ी,
(i) वायु।
उत्तर:
शुद्ध पदार्थ –
(a) बर्फ,
(c) लोहा,
(d) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल,
(e) कैल्शियम ऑक्साइड,
(f) पारा।

प्रश्न 8.
निम्नलिखित मिश्रणों में से विलयन की पहचान करें
(a) मिट्टी,
(b) समुद्री जल,
(c) वायु,
(d) कोयला,
(e) सोडा जल।
उत्तर:
विलयन-
(c) वायु, एवं
(e) सोडा जल।

प्रश्न 9.
निम्नलिखित में कौन टिण्डल प्रभाव को प्रदर्शित करेगा?
(a) नमक का घोल,
(b) दूध,
(c) कॉपर सल्फेट का विलयन,
(d) स्टार्च विलयन।
उत्तर:
(b) दूध एवं
(d) स्टार्च विलयन।

प्रश्न 10.
निम्नलिखित को तत्व, यौगिक तथा मिश्रण में वर्गीकृत करें
(a) सोडियम,
(b) मिट्टी,
(c) चीनी का घोल,
(d) चाँदी,
(e) कैल्शियम कार्बोनेट,
(f) टिन,
(g) सिलिकॉन,
(h) कोयला,
(i) वायु,
(j) साबुन,
(k) मीथेन,
(l) कार्बन डाइऑक्साइड,
(m) रक्त।
उत्तर:
तत्व-
(a) सोडियम,
(d) चाँदी,
(f) टिन,
(g) सिलिकॉन।

यौगिक –
(e) कैल्शियम कार्बोनेट,
(k) मीथेन,
(l) कार्बन डाइऑक्साइड।

मिश्रण –
(b) मिट्टी,
(c) चीनी का घोल,
(b) कोयला,
(i) वायु,
(j) साबुन,
(m) रक्त।

प्रश्न 11.
निम्नलिखित में से कौन-कौन से परिवर्तन रासायनिक हैं ?
(a) पौधों की वृद्धि,
(b) लोहे में जंग लगना,
(c) लोहे के चूर्ण तथा बालू को मिलाना,
(d) खाना पकाना,
(e) भोजन का पाचन,
(f) जल से बर्फ बनना,
(g) मोमबत्ती का जलना।
उत्तर:
रासायनिक परिवर्तन-

(a) पौधों की वृद्धि,
(b) लोहे में जंग लगना,
(e) भोजन का पाचन,
(g) मोमबत्ती का जलना।

MP Board Class 9th Science Chapter 2  परीक्षोपयोगी अतिरिक्त प्रश्नोत्तर

MP Board Class 9th Science Chapter 2  वस्तुनिष्ठ प्रश्न

बहु-विकल्पीय प्रश्न

प्रश्न 1.
शुद्ध पदार्थों के लिए निम्नलिखित में कौन-से कथन सत्य हैं ?
(i) शुद्ध पदार्थों में केवल एक प्रकार के कण होते हैं
(ii) शुद्ध पदार्थ यौगिक अथवा मिश्रण हो सकते हैं
(iii) शुद्ध पदार्थों का संघटन सर्वत्र समान होता है
(iv) निकिल के अतिरिक्त अन्य सभी तत्वों द्वारा शुद्ध पदार्थों को हस्तान्तरित किया जा सकता है।

(a) (i) तथा (ii)
(b) (i) तथा (iii)
(c) (iii) तथा (iv)
(d) (ii) तथा (iii)।
उत्तर:
(b) (i) तथा (iii)

प्रश्न 2.
लोहे से बनी वस्तु में जंग लगने को कहते हैं-
(a) संक्षारण तथा यह एक भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन भी है
(b) विलयन तथा यह एक भौतिक परिवर्तन है
(c) संक्षारण तथा यह एक रासायनिक परिवर्तन है
(d) विलयन तथा यह एक रासायनिक परिवर्तन है।
उत्तर:
(c) संक्षारण तथा यह एक रासायनिक परिवर्तन है

प्रश्न 3.
सल्फर तथा कार्बन डाइ-सल्फाइड का एक मिश्रण है-
(a) विषमांगी तथा टिण्डल प्रभाव दर्शाता है
(b) समांगी तथा टिण्डल प्रभाव दर्शाता है।
(c) विषमांगी तथा टिण्डल प्रभाव नहीं दर्शाता है।
(d) समांगी तथा टिण्डल प्रभाव नहीं दर्शाता है।
उत्तर:
(d) समांगी तथा टिण्डल प्रभाव नहीं दर्शाता है

प्रश्न 4.
आयोडीन का टिंचर पूतिरोधी गुण रखता है। यह विलयन निम्नलिखित में से किसको घोलने पर बनता है ?
(a) पोटैशियम आयोडाइड में आयोडीन
(b) वैसलीन में आयोडीन
(c) जल में आयोडीन
(d) ऐल्कोहॉल में आयोडीन।
उत्तर:
(d) ऐल्कोहॉल में आयोडीन

प्रश्न 5.
निम्नलिखित में से कौन समांगी प्रकृति के हैं ?
(i) बर्फ
(ii) लकड़ी
(iii) मृदा
(iv) वायु।

(a) (i) तथा (iii)
(b) (ii) तथा (iv)
(c) (i) तथा (iv)
(d) (iii) तथा (iv)।
उत्तर:
(c) (i) तथा (iv)

प्रश्न 6.
निम्नलिखित में से भौतिक परिवर्तन कौन से हैं ?
(i) लोह धातु का पिघलना
(ii) लोहे में जंग लगना
(iii) एक लोह छड़ को मोड़ना
(iv) लोह धातु का एक तार खींचना।

(a) (i), (ii) तथा (iii)
(b) (i), (ii) तथा (iv)
(c) (i), (iii) तथा (iv)
(d) (ii), (iii) तथा (iv)।
उत्तर:
(c) (i), (iii) तथा (iv)

प्रश्न 7.
निम्नलिखित में से रासायनिक परिवर्तन कौन-से हैं ?
(i) लकड़ी का क्षरण
(ii) लकड़ी का दहन
(iii) लकड़ी का चीरना
(iv) लकड़ी के एक टुकड़े में कील ठोंकना।

(a) (i) तथा (ii)
(b) (ii) तथा (iii)
(c) (iii) तथा (iv)
(d) (i) तथा (iv)।
उत्तर:
(a) (i) तथा (ii)

प्रश्न 8.
निम्नलिखित अभिक्रिया अनुसार दो पदार्थ A तथा B अभिक्रिया कर तृतीय पदार्थ A,B बनाते 2A + B → A2B निम्नलिखित में से कौन-से कथन इस अभिक्रिया के सन्दर्भ में सही नहीं हैं ?
(i) उत्पाद A2B, पदार्थ A तथा B के गुण प्रदर्शित करता है
(ii) उत्पाद का सदैव एक निश्चित संघटन होगा
(iii) इस प्रकार का बना उत्पाद यौगिक के रूप में वर्गीकृत नहीं किया जा सकता है
(iv) इस प्रकार का बना उत्पाद एक तत्व है।

(a) (i), (ii) तथा (iii)
(b) (ii), (iii) तथा (iv)
(c) (i), (iii) तथा (iv)
(d) (i), (ii) तथा (iv)।
उत्तर:
(c) (i), (iii) तथा (iv)

प्रश्न 9.
दो रासायनिक स्पीशीजX तथा Y आपस में संयुक्त होकर P उत्पाद बनाती हैं जिसमें X तथा Y दोनों उपस्थित हैं
X + Y = P
X तथा Y को सरल रासायनिक अभिक्रिया द्वारा सरल पदार्थों में नहीं तोड़ा जा सकता है। निम्नलिखित में से कौन-सा X, Y तथा P स्पीशीज के सन्दर्भ में सत्य है (i) P एक यौगिक है
(ii)X तथा Y यौगिक हैं
(iii) X तथा Y तत्व हैं।
(iv) P का एक निश्चित संघटन है

(a) (i), (ii) तथा (iii)
(b) (i), (ii) तथा (iv)
(c) (ii), (iii) तथा (iv)
(d) (i), (iii) तथा (iv)।
उत्तर:
(d) (i), (iii) तथा (iv)

प्रश्न 10.
अरुण ने जल में सोडियम क्लोराइड का 0.01% (द्रव्यमान) विलयन बनाया। निम्नलिखित में से कौन-सा विलयन का सही संघटन व्यक्त करता है ?
(a) 1.00 g NaCl + 100 g जल
(b) 0.11 g NaCl + 100 g जल
(c) 0.01 g NaCl + 99.99 g जल
(d) 0.10 g NaCl + 99.90g जल।
उत्तर:
(c) 0.01 g NaCl + 99.99 g जल

रिक्त स्थानों की पूर्ति

1. कोलॉइड …………… मिश्रण है तथा इसके अवयवों को एक तकनीक जिसे ………….. जाना जाता है, के द्वारा पृथक् किया जा सकता है।
2. बर्फ, जल तथा जल वाष्प भिन्न दिखते हैं तथा भिन्न ……………. गुण प्रदर्शित करते हैं परन्तु वे ………. दृष्टि से समान होते हैं।
3. एक पृथक्कारी कीप में जल तथा क्लोरोफॉर्म का मिश्रण लेकर मिश्रित किया गया तथा कुछ समय के लिए अविक्षुब्ध अवस्था में छोड़ दिया। पृथक्कारी कीप में दूसरी सतह ………….. की तथा
निचली सतह ……………. की होगी।
4. दो या अधिक मिश्रणीय द्रवों, जिनके क्वथनांकों में 25 K से कम अन्तर है, के मिश्रण को …………….. विधि द्वारा पृथक् किया जा सकता है।
5. कुछ बूंद दूध युक्त जल में सूर्य का प्रकाश गुजारने पर वह नीली झलक दर्शाता है। यह दूध के द्वारा प्रकाश के ………….. के कारण होता है तथा इस परिघटना को ………….. कहते हैं। यह प्रदर्शित करता है कि दूध एक ………… विलयन है।
6. विलयन एक …………….. मिश्रण होता है। (2018, 19)
7. बर्फ, जल और जल वाष्प के …………….. गुण समान होते हैं। (2018)
उत्तर:

  1. विषमांगी, अपकेन्द्रण,
  2. भौतिक, रासायनिक,
  3. जल, क्लोरोफॉर्म,
  4. प्रभाजी आसवन,
  5. प्रकीर्णन (फैलाने), टिण्डल प्रभाव, कोलॉइडली,
  6. समांगी,
  7. रासायनिक।

सही जोड़ी बनाना

स्तम्भ ‘A’                                                                   स्तम्भ ‘B’
1. अघुलनशील द्रवों का पृथक्करण                     (i) भौतिक परिवर्तन
2. डाई में रंगों को पृथक् करने में                       (ii) क्रिस्टलीकरण
3. मोमबत्ती का जलना                                      (iii) पृथक्करण कीप
4. विद्युत बल्ब का जलना                                   (iv) क्रोमेटोग्राफी
5. अशुद्ध नमूने से फिटकरी को शुद्ध करना        (v) रासायनिक परिवर्तन
उत्तर:

  1. → (iii)
  2. → (iv)
  3. → (v)
  4. → (i)
  5. → (ii).

सत्य/असत्य कथन
1. जल में नमक का घोल निलम्बन होता है।
2. ऐरोसॉल एक कोलॉइडल विलयन का प्रकार होता है।
3. नमक एवं गंधक के मिश्रण को ऊर्ध्वपातन विधि से पृथक् करते हैं।
4. विलयन एक समांगी मिश्रण होता है।
5. काँच की बोतल का टूटना एक रासायनिक परिवर्तन होता है।
उत्तर:

  1. असत्य
  2. सत्य
  3. असत्य
  4. सत्य
  5. असत्य।

एक शब्द/वाक्य में उत्तर

प्रश्न 1.
एक ही प्रकार के कणों से बनने वाले पदार्थों को क्या कहते हैं ? (2019)
उत्तर:
शुद्ध पदार्थ।

प्रश्न 2.
उस यन्त्र का नाम बताइए जिसके द्वारा दूध से क्रीम को पृथक् किया जाता है।
उत्तर:
अपकेन्द्रीय यन्त्र।

प्रश्न 3.
नमक एवं आयोडीन के मिश्रण को पृथक् करने की विधि का नाम बताइए।
उत्तर:
ऊर्ध्वपातन।

प्रश्न 4.
आसुत जल को किस विधि से प्राप्त किया जाता है?
उत्तर:
आसवन विधि।

प्रश्न 5.
जब लोहे की छीलन को गंधक चूर्ण के साथ गरम किया जाता है तो एक काला यौगिक बनता है। इस क्रिया में कौन-सा परिवर्तन होता है?
उत्तर:
रासायनिक परिवर्तन।

MP Board Class 9th Science Chapter 2  अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
विलयन किसे कहते हैं ? उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
विलयन-“दो या दो से अधिक शुद्ध पदार्थों का समांगी मिश्रण विलयन कहलाता है।” उदाहरण-चीनी/नमक का जल में घोल, हवा (वायु), मिश्र धातुएँ।

प्रश्न 2.
ऊर्ध्वपातन से क्या समझते हो ? ऊर्ध्वपातज पदार्थों के उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
ऊर्ध्वपातन-“कछ ठोस पदार्थ गर्म करने पर बिना द्रव में बदले हए ही सीधे गैस अवस्था में परिवर्तित हो जाते हैं तथा ठण्डा करने पर गैस अवस्था से सीधे ठोस अवस्था में आ जाते हैं। यह प्रक्रिया ऊर्ध्वपातन कहलाती है।”
ऊर्ध्वपातज पदार्थों के उदाहरण-आयोडीन, कपूर आदि।

प्रश्न 3.
क्रोमेटोग्राफी से क्या समझते हो?
उत्तर:
क्रोमेटोग्राफी-“एक ऐसी विधि जिसका प्रयोग उन विलेय पदार्थों को पृथक् करने में होता है जो एक ही प्रकार के विलायक में घुले होते हैं, क्रोमेटोग्राफी कहलाती है।”

प्रश्न 4.
भौतिक परिवर्तन से क्या समझते हो?
उत्तर:
भौतिक परिवर्तन-“वे परिवर्तन जिनमें पदार्थ के भौतिक गुण तो बदल जाते हैं लेकिन रासायनिक गुणों में कोई परिवर्तन नहीं होता, भौतिक परिवर्तन कहलाते हैं।”

प्रश्न 5.
रासायनिक परिवर्तन किसे कहते हैं ?
उत्तर:
रासायनिक परिवर्तन-“वे परिवर्तन जिसमें पदार्थ के रासायनिक गुणों में आमूलचूल परिवर्तन हो .. जाता है तथा नया पदार्थ बनता है, रासायनिक परिवर्तन कहलाते हैं।”

प्रश्न 6.
मिश्रण से क्या समझते हो ?
उत्तर:
मिश्रण-“दो या दो से अधिक शुद्ध पदार्थों के अनिश्चित अनुपात में मिलने से बने पदार्थ जिनमें उनके अवयवों के गुण विद्यमान रहते हैं, मिश्रण कहलाते हैं।”

प्रश्न 7.
यौगिक किसे कहते हैं ?
उत्तर:
यौगिक-“दो या दो से अधिक तत्वों के निश्चित अनुपात में मिलने से बने पदार्थ जिनके गुण अपने अवयवी तत्वों के गुणों से सर्वथा भिन्न होते हैं, यौगिक कहलाते हैं।”

प्रश्न 8.
तत्व किसे कहते हैं ?
उत्तर:
तत्व-“एक ही प्रकार के परमाणुओं से बने पदार्थ तत्व कहलाते हैं।”

प्रश्न 9.
तत्वों को कितने वर्गों में वर्गीकृत किया जा सकता है ? उनके नाम लिखिए।
उत्तर:
तत्वों को तीन वर्गों में विभाजित किया जा सकता है (1) धातु, (2) उपधातु, (3) अधातु।

प्रश्न 10.
वाष्यन द्वारा नमक को उसके विलयन से पुनः प्राप्त किया जा सकता है। इसके लिए कोई अन्य तकनीक सुझाइए।
उत्तर:
नमक को उसके विलयन से पुनः प्राप्त करने के लिए दूसरी तकनीक आसवन विधि है। इसमें नमक के घोल को आसवन फ्लास्क में लेकर गर्म करते हैं। वाष्पन के बाद जल संघनित होकर ग्राहक में एकत्रित हो जाता है तथा नमक फ्लास्क में रह जाता है।

प्रश्न 11.
समुद्री जल को समांगी तथा साथ ही विषमांगी मिश्रण के रूप में भी वर्गीकृत किया जा सकता है। टिप्पणी कीजिए।
उत्तर:
समुद्री जल में घुलनशील लवण घुले रहते हैं इसलिए यह एक समांगी मिश्रण (विलयन) होता है लेकिन साथ ही इसमें कुछ अविलेय अशुद्धियाँ भी मिश्रित होती हैं इसलिए इसे विषमांगी मिश्रण के रूप में भी वर्गीकृत करते हैं।

प्रश्न 12.
नमक के विलयन को जल से तनु करते समय एक विद्यार्थी ने गलती से ऐसीटोन (क्वथनांक 56°C) मिला दिया है। ऐसीटोन को पुनः प्राप्त करने के लिए हम क्या तकनीक अपना सकते हैं ? अपने विकल्प का औचित्य दीजिए।
उत्तर:
ऐसीटोन को पुनः प्राप्त करने के लिए हम आसवन तकनीक को अपनाएँगे क्योंकि ऐसीटोन एवं नमक के विलयन के क्वथनांकों में 25°C से अधिक का अन्तर है। इसमें ऐसीटोन आसवित होकर ग्राहक पात्र में एकत्रित हो जायेगा तथा नमक का घोल अथवा आसवन फ्लास्क में बचा रह जायेगा।

प्रश्न 13.
समझाइए अविक्षुब्ध अवस्था में कोलॉइडी विलयन के कण तल पर क्यों नहीं बैठते हैं, जबकि निलम्बन की स्थिति में ऐसा नहीं होता है ?
उत्तर:
कोलॉइडी विलयन एक स्थायी विलयन है तथा इसमें प्रक्षिप्त कण बहुत छोटे होते हैं जबकि निलम्बन अस्थायी होता है तथा इसके कण बड़े होते हैं इसलिए अविक्षुब्ध अवस्था में कोलॉइडी विलयन के कण तल पर नहीं बैठते जबकि निलम्बन के कण बैठ जाते हैं।

प्रश्न 14.
धुआँ तथा कोहरा दोनों एरोसॉल हैं। ये किस प्रकार भिन्न हैं ?
उत्तर:
धुंए में ठोस कण वायु में प्रक्षिप्त होते हैं जबकि एरोसॉल में द्रव के कण वायु में प्रक्षिप्त होते हैं। अर्थात् धुआँ ठोस का गैस में कोलॉइड तथा कोहरा द्रव का गैस में कोलॉइड होता है।

प्रश्न 15.
निम्नलिखित को भौतिक अथवा रासायनिक गुणों में वर्गीकृत कीजिए
(a) स्टील के एक नमूने का संघटन, 98% आयरन, 1.5% कार्बन तथा 0.5% अन्य तत्व हैं।
(b) जिंक, हाइड्रोजन गैस के निष्कासन के साथ हाइड्रोक्लोरिक अम्ल में घुलता है।
(c) धात्विक सोडियम पर्याप्त मुलायम होता है जिसे चाकू के द्वारा काटा जा सकता है।
(d) अधिकांश धातु ऑक्साइड, जल से अन्योन्य क्रिया कर क्षारक बनाते हैं।
उत्तर:
(a) भौतिक गुण,
(b) रासायनिक गुण,
(c) भौतिक गुण,
(d) रासायनिक गुण।

प्रश्न 16.
संलग्न चित्र में दो संघनित्र (a) एवं (b) दिए गए हैं। आसवन उपकरण में कौन-सी नली अधिक प्रभावी रहेगी?
पाठ 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है MP Board Class 9th Science
उत्तर:
संघनित्र नली (a) अधिक प्रभावी रहेगी क्योंकि इसके अन्दर रुकावट होने से अधिक क्वथनांक का द्रव भी वाष्प संघनित होकर नीचे आ जायेगा। इसके द्वारा 25°C से कम अन्तर के क्वथनांकों वाले द्रवों को पृथक् किया जा सकता है।

प्रश्न 17.
आपको ‘A’ तथा ‘B’ चिह्नित जल के दो नमुने दिए गए हैं। नमूना ‘A’ 100°C पर उबलता है तथा नमूना ‘B’ 102°C पर उबलता है। जल का कौन-सा नमूना 0°C पर नहीं जमेगा? टिप्पणी कीजिए।
उत्तर:
जल का नमूना ‘B’ 0°C पर नहीं जमेगा क्योंकि यह अशुद्ध जल का नमूना है इसलिए 102°C पर उबलता है। अशुद्ध जल का गलनांक 0°C से कम होता है।

प्रश्न 18.
आभूषण बनाने के उद्देश्य से स्वर्ण में कॉपर अथवा सिल्वर को मिश्रित करने पर उसे क्या अनुकूल गुण प्राप्त होते हैं ?
उत्तर:
उसकी सुदृढ़ता और अधिक हो जाती है। इसलिए आभूषण मजबूत एवं टिकाऊ बनते हैं।

प्रश्न 19.
क्या हम पृथक्कारी कीप का उपयोग कर जल में घुलित ऐल्कोहॉल पृथक् कर सकते हैं ? यदि हाँ तो प्रक्रम का वर्णन कीजिए। यदि नहीं, तो समझाइए।
उत्तर:
पृथक् नहीं कर सकते क्योंकि पृथक्कारी कीप का उपयोग दो या अधिक अमिश्रण (अघुलनशील) द्रवों को पृथक् उनके मिश्रण से पृथक् करने में कर सकते हैं।

प्रश्न 20.
चुकन्दर तथा गन्ने से प्राप्त सुक्रोज (शक्कर) के क्रिस्टलों को मिश्रित किया गया है। क्या यह एक शुद्ध पदार्थ है अथवा मिश्रण ? इसका कारण दीजिए।
उत्तर:
उपर्युक्त मिश्रित पदार्थ शुद्ध पदार्थ हैं क्योंकि इसके अवयवों को सामान्य भौतिक तकनीक से पृथक् नहीं किया जा सकता।

MP Board Class 9th Science Chapter 2 लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
पृथक्करण तकनीक सुझाइए, जिसकी/जिनकी किसी व्यक्ति को निम्नलिखित मिश्रणों को . पृथक् करने हेतु आवश्यकता होगी
(a) पारा तथा जल,
(b) पोटैशियम क्लोराइड तथा अमोनियम क्लोराइड,
(c) सामान्य नमक, जल तथा रेत,
(d) कैरोसीन तेल, जल का नमक।
उत्तर:
(a) इस मिश्रण को पृथक करने के लिए पृथक्कारी कीप विधि या वाष्पन विधि या आसवन विधि का प्रयोग कर सकते हैं।
(b) मिश्रण को पृथक् करने के लिए ऊर्ध्वपातन विधि का प्रयोग करते हैं।
(c) मिश्रण को पहले छानते हैं, रेत अवशेष के रूप में तथा नमक का विलयन छनित के रूप में प्राप्त होता है जिसके वाष्पन से नमक मिल जाता है।
(a) पृथक्कारी कीप द्वारा नमक के घोल एवं कैरोसीन तेल को अलग करते हैं फिर नमक के घोल से वाष्पन द्वारा नमक पृथक् कर लेते हैं।

प्रश्न 2.
आप क्या प्रेक्षित करेंगे जब
(a) 60°C पर बने पोटैशियम क्लोराइड के एक संतृप्त विलयन को सामान्य ताप तक ठण्डा होने दिया जाता है।
(b) शक्कर के जलीय विलयन को शुष्कन तक गर्म किया जाता है।
(c) लोह छीलन तथा सल्फर के चूर्ण को तीव्र गर्म किया जाता है।
उत्तर:
(a) विलयन की तली में अतिरिक्त पोटैशियम क्लोराइड के कण एकत्रित हो जाते हैं।
(b) पात्र में ठोस शक्कर बच जाती है।
(c) काला पदार्थ लोह सल्फाइड बनता है।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित से सम्बन्धित प्रक्रम का नाम लिखिए
(a) शुष्क बर्फ को सामान्य तापमान तथा एक वायुमण्डलीय दाब पर रखा जाता है।
(b) एक गिलास में रखे जल की सतह पर स्याही की एक बूंद डालने पर वह जल में चारों ओर फैल जाती है।
(c) एक क्रिस्टल है, उसमें विलोडित करते हुए जल मिलाते हैं।
(d) ऐसीटोन की बोतल को खुला छोड़ने पर बोतल रिक्त हो जाती है।
(e) दूध से क्रीम निकालने के लिए इसका मंथन किया जाता है।
(f) रेत तथा जल के मिश्रण को कुछ समय के लिए अविक्षुब्ध अवस्था में छोड़ने पर रेत तली पर बैठ जाती है।
(g) अँधेरे कमरे में सूक्ष्म छिद्र से प्रवेश करती हुई महीन प्रकाश की किरण उसके पथ में उपस्थित कणों को प्रदीप्त कर देती है।
उत्तर:
(a) ऊर्ध्वपातन,
(b) विसरण,
(c) विसरण/विलयन,
(d) वाष्पन (वाष्पीकरण/विसरण),
(e) अपकेन्द्रण,
(f) तलछट या अवसादन,
(g) टिण्डल प्रभाव (प्रकाश का प्रकीर्णन)।

प्रश्न 4.
कैल्सियम कार्बोनेट गर्म किए जाने पर कैल्सियम ऑक्साइड तथा कार्बन डाइ-ऑक्साइड देता है।
(a) क्या यह एक भौतिक अथवा रासायनिक परिवर्तन है ?
(b) उपर्युक्त विधि से प्राप्त उत्पादों से क्या आप एक अम्लीय तथा एक क्षारकीय विलयन बना सकते हैं ? यदि हाँ, तो सम्बन्धित रासायनिक समीकरण दीजिए।
उत्तर:
(a) हाँ, यह एक रासायनिक परिवर्तन है।
(b) हाँ, हम प्राप्त उत्पादों से एक अम्लीय एवं एक क्षारकीय विलयन बना सकते हैं।

रासायनिक समीकरण-
CaO + H2O → Ca(OH)2 क्षारकीय
(कैल्शियम ऑक्साइड)
CO2 + H2O →  H2CO3 अम्लीय
(कार्बन डाइ-ऑक्साइड)

प्रश्न 5.
अधातुएँ सामान्यतः ऊष्मा तथा विद्युत की अल्पचालक होती हैं। ये चमकदार, ध्वानिक, आघातवर्धनीय नहीं होतीं परन्तु रंगीन होती हैं।
(a) एक चमकदार अधातु का नाम दीजिए।
(b) सामान्य ताप पर द्रव के रूप में उपस्थित एक अधातु का नाम दीजिए।
(c) एक अधातु का अपररूप विद्युत का सुचालक है। अपररूप का नाम दीजिए।
(d) एक अधातु का नाम दीजिए जिसको सर्वाधिक यौगिक बनाने के रूप में जाना जाता है।
(e) कार्बन के अतिरिक्त अपररूपता दर्शाने वाले एक अधातु का नाम दीजिए।
(f) दहन के लिए आवश्यक एक अधातु का नाम दीजिए।
उत्तर:
(a) आयोडीन,
(b) ब्रोमीन,
(c) ग्रेफाइट,
(d) कार्बन,
(e) सल्फर,
(f) ऑक्सीजन।

प्रश्न 6.
निम्न पदार्थों को तत्वों, मिश्रणों तथा यौगिकों में वर्गीकृत कीजिए-
Cu, रेत, H2O, CaCO3, NaCltaan, Zn, O2, लकड़ी, F2, Hg, हीरा।
उत्तर:
तत्व – Cu, Zn, O2, F2, Hg, हीरा।
मिश्रण – रेत, NaCl(aq), लकड़ी।
यौगिक – H2O, CaCO3.

प्रश्न 7.
निम्नलिखित में से कौन यौगिक नहीं है ?
(a) क्लोरीन गैस,
(b) पोटैशियम क्लोराइड,
(c) आयरन,
(d) आयरन सल्फाइड,
(e) ऐलुमीनियम,
(f) आयोडीन,
(g) कार्बन,
(h) कार्बन मोनोऑक्साइड,
(i) सल्फर चूर्ण।
उत्तर:
पदार्थ जो यौगिक नहीं हैं-

(a) क्लोरीन गैस,
(c) आयरन,
(e) ऐलुमीनियम,
(f) आयोडीन,
(g) कार्बन,
(i) सल्फर चूर्ण।

प्रश्न 8.
निम्नलिखित में से प्रत्येक को भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन के रूप में वर्गीकृत कीजिए
(a) धूप में शर्ट का सूखना,
(b) रेडियेटर के ऊपर गर्म वायु का उठना,
(c) लालटेन में कैरोसीन का जलना,
(d) नींबू रस मिलाने पर काली चाय का रंग परिवर्तित होना,
(e) मक्खन प्राप्त करने के लिए दूध, क्रीम का मंथन।
उत्तर:
भौतिक परिवर्तन – (a), (b) एवं (e)।
रासायनिक परिवर्तन – (c) एवं (d)।

प्रश्न 9.
एक तत्व अत्यधिक ध्वनिक तथा अत्यधिक तन्य है। आप इस तत्व को किस श्रेणी में वर्गीकृत करेंगे? इस तत्व में आप अन्य किन अभिलक्षणों के पाये जाने की आशा करते हैं ?
उत्तर:
इस तत्व को धातु तत्व की श्रेणी में वर्गीकृत करेंगे।

इस तत्व के अन्य अभिलक्षण –

  1. यह आघातवर्धनीय है अर्थात् इसको पीटकर महीन चादरों में दाला जा सकता है।
  2. यह ऊष्मा एवं विद्युत का सुचालक है।
  3. यह चमकीला है।

प्रश्न 10.
आपके परिवेश में प्रेक्षित टिण्डल प्रभाव के कुछ उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
टिण्डल प्रभाव के उदाहरण

  1. किसी छेद में या रोशनदान से जब सूर्य की किरणे कमरे में प्रवेश करती हैं तो एक प्रकाशपुंज दिखाई देता है।
  2. अँधेरे में जब टॉर्च की रोशनी वायु में डाली जाती है तो वायु में टॉर्च की रोशनी का पथ चमकता दिखाई देता है।
  3. रात्रि को वाहन की हेडलाइट की रोशनी से टिण्डल प्रभाव दिखाई देता है।

प्रश्न 11.
(a) मिश्र धातु को आप किस वर्ग के अन्तर्गत वर्गीकृत करेंगे तथा क्यों ?
(b) एक विलयन हमेशा द्रव होता है। टिप्पणी कीजिए।
(c) क्या एक विलयन विषमांगी हो सकता है ?
उत्तर:
(a) मिश्र धातु को हम विलयन (समांगी मिश्रण) वर्ग के अन्तर्गत वर्गीकृत करेंगे क्योंकि इसका संघटन सर्वत्र समान है।
(b) नहीं, क्योंकि ठोस विलयन (मिश्र धातुएँ) तथा गैसीय विलयन (वायु) सम्भव हैं।
(c) नहीं, क्योंकि विलयन दो या अधिक पदार्थों का समांगी मिश्रण है।

प्रश्न 12.
लोह छीलन तथा सल्फर को आपस में मिश्रित कर ‘A’ तथा ‘B’ दो भागों में बाँटा गया। भाग ‘A’ को तेज गर्म किया गया जबकि भाग ‘B’ को गर्म नहीं किया गया। दोनों भागों में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल मिलाया गया। दोनों परिस्थितियों में गैस निकली। इन उत्सर्जित गैसों को आप कैसे पहचानेंगे ?
उत्तर:
भाग ‘A’ को तीव्र गर्म करने पर आयरन सल्फाइड बनता है जो हाइड्रोक्लोरिक अम्ल से क्रिया करके रंगहीन सड़े हुए अण्डों की गन्ध वाली हाइड्रोजन सल्फाइड गैस निकालता है जबकि ‘B’ में लोह छीलन होती है जो हाइड्रोक्लोरिक अम्ल से क्रिया करके रंगहीन, गंधहीन हाइड्रोजन गैस निकालती है।
इस प्रकार गंध के आधार पर दोनों गैसों की पहचान करेंगे।

प्रश्न 13.
स्याही को निर्मित करने वाले रंजकों के एक मिश्रण को एक बालक पृथक् करना चाहता है। उसने छन्ना पत्र पर स्याही से एक पंक्ति चिह्नित की तथा जल युक्त काँच के जार में छन्ना पत्र को चित्रानुसार रखा। छन्ना पत्र के शीर्ष के निकट जल पहुँचने पर छन्न पत्रक छन्ना पत्र को बाहर निकालना।
Kya Hamare Aas Paas Ke Padarth Shudh Hai Question Answer MP Board Class 9th Science
(i) आप क्या देखने की आशा करते हैं, यदि स्याही तीन भिन्न रंगीन यौगिक रखती है।
(ii) बालक द्वारा प्रयोग में ली गयी तकनीक का नाम दीजिए।
(iii) इस तकनीक का एक अन्य अनुप्रयोग दीजिए।
उत्तर:
(i) हम छन्ना पत्र पर हम विभिन्न तीन रंगों के धब्बे देखते हैं।
(ii) बालक द्वारा प्रयोग की गई तकनीक क्रोमेटोग्राफी है।
(iii) रक्त से नशीले पदार्थों (Drugs) को पृथक् करने में इस तकनीक का प्रयोग किया जाता है।

प्रश्न 14.
विद्यार्थियों के एक समूह ने जूते का एक पुराना डिब्बा लिया तथा इसके सभी पार्श्व काले कागज से ढक दिए। इस बॉक्स में एक छिद्र बनाकर एक प्रकाश स्रोत (टॉर्च) लगा दिया तथा दूसरे पार्श्व पर प्रकाश को देखने के लिए एक अन्य छिद्र किया। उन्होंने चित्रानुसार दूध के नमूने को एक बीकर (काँच के पात्र) में लेकर बक्से में रखा। उन्हें यह देखकर आश्चर्य हुआ कि बीकर में लिया गया दूध प्रदीप्त करता है। उन्होंने इसी क्रिया-कलाप को नमक का विलयन लेकर करने का प्रयास किया परन्तु पाया कि प्रकाश इसमें से सामान्य रूप से निकल गया।
क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध है के प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science
(a) समझाइए दूध क्यों प्रदीप्त हुआ ? इस परिघटना का नाम दीजिए।
(b) नमक के विलयन से समान परिणाम प्रेक्षित नहीं हुए, समझाइए।
(c) क्या आप दूध के विलयन द्वारा दर्शाए गए प्रभाव के समान प्रदर्शित करने वाले दो अन्य विलयनों के नाम सुझा सकते हैं ?
उत्तर:
(a) दूध एक कोलॉइडली विलयन है जिसके कण प्रकाश को फैलाने की प्रवृत्ति रखते हैं इसलिए दूध प्रदीप्त हुआ। इस परिघटना का नाम टिण्डल प्रभाव है।
(b) नमक का विलयन शुद्ध विलयन है जो टिण्डल प्रभाव का गुण नहीं रखता इसलिए समान परिणाम प्रेक्षित नहीं हुए।
(c) कोहरा, धुआँ।

प्रश्न 15.
एक प्रयोग के दौरान विद्यार्थियों को जल में शक्कर का विलयन 10% (द्रव्यमान प्रतिशत) बनाने के लिए कहा गया। रमेश ने 10g शक्कर को 100 g जल में घोला जबकि सारिका ने 10g शक्कर को जल में घोलकर 100 g विलयन बनाया।
(a) क्या दोनों विलयन समान सान्द्रता के हैं ?
(b) दोनों विलयनों के भार प्रतिशत की तुलना कीजिए।
उत्तर:
हमारे आस पास के पदार्थ शुद्ध है प्रश्न उत्तर MP Board Class 9th Science
(a) दोनों के विलयनों की सान्द्रता समान नहीं है।
(b) रमेश के विलयन की सान्द्रता = 9.09% है जबकि सारिका के विलयन की सान्द्रता = 10% है। इस प्रकार सारिका के विलयन की सान्द्रता अभीष्ट है।

प्रश्न 16.
100g जल में 20% (द्रव्यमान प्रतिशत) विलयन बनाने के लिए आवश्यक सोडियम सल्फेट के द्रव्यमान का परिकलन कीजिए।
हल:
मान लीजिए आवश्यक सोडियम सल्फेट का द्रव्यमान = x g
MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं image 10
⇒ 100x = 20x + 2,000
⇒ 80x = 2,000
⇒ x = 25g
अत: सोडियम सल्फेट का अभीष्ट द्रव्यमान = 25g

प्रश्न 17.
मिश्रण एवं यौगिक में अन्तर स्पष्ट कीजिए। (2019)
उत्तर:
मिश्रण एवं यौगिक में अन्तर
MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं image 11

प्रश्न 18.
एक अध्यापक ने तीन A, B तथा C विद्यार्थियों को 50% (द्रव्यमान-आयतन द्वारा) सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) विलयन बनाने के लिए निर्देशित किया। A में 50g NaOH को 100 ml जल में घोला, B ने 50 g NaOH को 100 g जल में घोला जबकि ‘C’ ने 50 g NaOH को जल में घोलकर 100 ml विलयन बनाया। उनमें से किसने वांछित विलयन बनाया और क्यों ?
उत्तर:
किसी विलयन की सान्द्रता द्रव्यमान-आयतन प्रतिशत में निकालने के लिए विलेय का द्रव्यमान एवं विलयन का आयतन चाहिए लेकिन ‘A’ के विलयन में विलायक का आयतन 100 ml तथा ‘B’ के विलयन में विलायक का द्रव्यमान 100 g दिया है तथा दोनों के विलयनों में विलेय का द्रव्यमान 50g है। अतः इनके विलयन वांछित सान्द्रता के विलयन नहीं हैं।

C ने अपने विलयन बनाने में विलेय का द्रव्यमान 50g तथा तैयार विलयन का आयतन 100 ml लिया है अत: C ने वांछित सान्द्रता 50% (द्रव्यमान-आयतन प्रतिशत) का विलयन बनाया।

प्रश्न 19.
समांगी मिश्रण एवं विषमांगी मिश्रण को उदाहरण सहित समझाइए। (2019)
उत्तर:
समांगी मिश्रण – समांगी मिश्रण की बनावट प्रत्येक स्थान पर समान होती है।
उदाहरण –  नमक या चीनी का जल में विलयन, मिश्र धातु, हवा।

विषमांगी मिश्रण – विषमांगी मिश्रण के अंश भौतिक दृष्टि से पृथक् होते हैं।
उदाहरण – नमक और लोहे की छीलन का मिश्रण, जल एवं तेल का मिश्रण।

MP Board Class 9th Science Chapter 2 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्नलिखित अभिलक्षणों वाले प्रत्येक मिश्रण का एक उदाहरण दीजिए। इन मिश्रण के अवयवों को पृथक् करने की एक उपयुक्त विधि सुझाइए।
(a) एक वाष्पशील एवं एक अवाष्पशील अवयव।
(b) क्वथनांकों में पर्याप्त अन्तर रखने वाले दो वाष्पशील अवयव।
(c) दो अमिश्रणीय द्रव।
(d) अवयवों में से एक जो ठोस से सीधे गैसीय अवस्था में परिवर्तित हो।
(e) किसी विलायक में घुले दो या दो से अधिक रंगीन अवयव।
उत्तर:
वांछित मिश्रणों के उदाहरण एवं उनके पृथक्करण की विधियाँ
MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं image 12

प्रश्न 2.
क्वथनांक में 25 K अथवा उससे कम अन्तर वाले मिश्रणीय द्रवों को पृथक् करने के लिए प्रयुक्त विधि प्रभाजी आसवन है। प्रभाजी आसवन के उपकरण का कौन-सा भाग इसे दक्ष बनाता है तथा सामान्य आसवन से अधिक प्रभावशाली है। चित्र बनाकर समझाइए।
उत्तर:
प्रभाजी आसवन के उपकरण का प्रभाजी कॉलम इसे दक्ष बनाता है क्योंकि इसके अन्दर शीशे के गुटके भरे होते हैं जो वाष्प को ठण्डा और संघनित होने के लिए सतह प्रदान करते हैं।
MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं image 13

प्रश्न 3.
आपको रेत, लोह छीलन, अमोनियम क्लोराइड तथा सोडियम क्लोराइड युक्त मिश्रण दिया गया है। इस मिश्रण से इन अवयवों को पृथक् करने के लिए प्रयुक्त प्रक्रियाओं का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
दिए मिश्रण के अवयवों को पृथक् करने की प्रक्रिया

  1. सर्वप्रथम मिश्रण को एक पात्र में रखकर उसमें चुम्बक घुमाते हैं इससे लोह छीलन पृथक् हो जाती है। उसे चुम्बक से पृथक् करके अलग रख लेते हैं।
  2. मिश्रण में से ऊर्ध्वपातन की प्रक्रिया द्वारा ऊर्ध्वपाती अमोनियम क्लोराइड को पृथक कर लेते हैं।
  3. शेष मिश्रण को जल में घोलते हैं जिससे सोडियम क्लोराइड जल में घुलनशील होने के कारण घुल जाता है तथा रेत नीचे बैठ जाता है।
  4. इस विलयन को फिल्टर पेपर से छानते हैं तो रेत फिल्टर पेपर पर ऊपर अवशेष के रूप में बचता है। नमक (सोडियम क्लोराइड) का विलयन फिल्ट्रेट के रूप में बीकर में एकत्रित हो जाता है।
  5. सोडियम क्लोराइड के विलयन को गर्म करते हैं जिससे जल वाष्पीकृत होकर उड़ जाता है तथा सोडियम क्लोराइड शेष रह जाता है।

प्रश्न 4.
आपके अध्यापक द्वारा आपको नैफ्थलीन तथा अमोनियम क्लोराइड का मिश्रण दिया गया है। इसको पृथक करने की प्रक्रिया को नामांकित चित्र सहित सुझाइए।
अथवा
नैफ्थलीन और अमोनियम क्लोराइड के मिश्रण को पृथक करने की प्रक्रिया को सचित्र समझाइए। (2019)
उत्तर:
नैफ्थलीन एवं अमोनियम क्लोराइड के मिश्रण को पृथक् करना-अमोनियम क्लोराइड जल में विलेय होता है तथा नैफ्थलीन अविलेय (अघुलनशील) मिश्रण को एक बीकर में पानी में घोल लेते हैं जिससे अमोनियम क्लोराइड तो घुल जाता है लेकिन नैफ्थलीन नहीं घुलता। मिश्रण को छन्नक पत्र (फिल्टर पेपर) से चित्रानुसार उपकरण तैयार करके छान लेते हैं। इससे अमोनियम क्लोराइड का विलयन नीचे बीकर में एकत्रित हो जाता है तथा नैफ्थलीन अवशेष के रूप में फिल्टर पेपर पर एकत्रित हो जाता है।
MP Board Class 9th Science Solutions Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं image 14
अमोनियम क्लोराइड के विलयन का वाष्पन करके ठोस अमोनियम क्लोराइड प्राप्त कर लेते हैं।

Leave a Comment